ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp (Bihar Special) Join Now
Google News Follow Us

बिहार एक बार फिर से उच्च शिक्षा के मामले में पूरे देश में प्रथम स्थान आया है, दरअसल आपको बता दूं कि बिहार में कॉलेजों की संख्या कुल 874 बताई जाती है। वही बताया जाता है, कि प्रति लाख आबादी पर 8 कॉलेज बिहार में अभी है, वहीं बिहार में विश्वविद्यालयों की बात करें तो बिहार में 35 कुल विश्वविद्यालय हैं और महत्वपूर्ण स्थान है इसमें सत्र राजकीय विश्वविद्यालय हैं।

उधर बिहार के प्लस टू पास स्टूडेंट की नामांकन 1 साल में देश में सबसे अधिक दर्ज किया गया जहां पर बताया जाए कि नामांकन 1 साल में 4.7% की बढ़ोतरी देखी गई है, जहां पर पहले 14.5% नामांकन होती थी। यानी कि अब इंटर पास छात्र-छात्राओं के पढ़ाई छोड़ने या दूसरे राज्यों में जाने वाले की संख्या में कमी आ गई है। आपको बता दूं कि इससे पहले बिहार में करीब-करीब 85.5% स्टूडेंट पढ़ाई छोड़ देते थे। या वह उच्च शिक्षा के लिए दूसरे राज्यों की तरफ रुख करते थे

https://twitter.com/Abhijee57352805/status/1523535790533668865?t=2W6lJ1senmJVXUDJlyJDcw&s=19

ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp (Bihar Special) Join Now
Google News Follow Us

वही अगर आंकड़ों पर अगर नजर डाले तो 18 से 23 साल के स्टूडेंट के लिए उच्च शिक्षा के मामले में झारखंड पहले पायदान पर है। वर्ष 2020 से 2021 की रिपोर्ट में राष्ट्रीय औसत से अब मात्र 7.2% ही पीछे रह गया है बिहार का ग्रॉस इनरोलमेंट रेशों यानी कि जीपीआर 14.5 से बढ़कर 20.3% हो गया है। उधड़ बिहार के शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए भी कहा कि उच्च शिक्षा में नामांकन बढ़ाना अच्छा संकेत है हमने 5% से अधिक नामांकन में उपलब्धि हासिल की है।

ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp (Bihar Special) Join Now
Google News Follow Us