इन दो नए रेल नेटवर्क के बनने से बिहारी ही नहीं नेपाल तक की यात्रा करना हुआ आसान जानिए

0
1958

बिहार में दो ऐसे रेल नेटवर्क बनकर तैयार हो चुके हैं, और उस पर ट्रेन का परिचालन शुरू कर दिया गया है। जिससे उत्तर बिहार सहित बिहार के लोग सीधा नेपाल तक बड़ी आसानी से पहुंच पाएंगे। आपको बता दूं कि इस रेल नेटवर्क को शुरू होने से लोगों को रोजगार के साथ-साथ लोग एक जगह से दूसरी जगह बड़ी आसानी से आ जा सकेंगे, वह भी कम खर्च में और लोगो को इससे समय की बचत भी लोगों को हो सकेगी।

आपको बता दूं कि डेढ़ महीने के अंदर जो दो रेल लाइन की शुरूआत हुई है उसमे सरहसा रेल लाइन है जिसके बन जाने के बाद लोग को पूरे उत्तर बिहार के लोग नेपाल के साथ-साथ सहरसा जाने में भी आसानी हो रही है। वहीं दूसरी तरफ 2 अप्रैल को जयनगर से नेपाल के कुर्था तक ट्रेन शुरू होने के बाद दोनों देश के बीच आवागमन भी और बेहतर हो चुका है। आपको बता दूं कि इन दोनों रूट पर ट्रेन के परिचालन की वजह से करीब करीब 20 लाख आबादी को इस दोनों ट्रेन नेटवर्क का फायदा मिल रहा है।

जयनगर से नेपाल के विभिन्न स्टेशनों का किराया

  • इनर्वा : 13 रुपये : (नेपाली 20 रुपये): 63 रुपये (नेपाली 100 रुपये)
  • खजुरी : 16 रुपये (नेपाली 25 रुपये) : 78 रुपये (नेपाली 125 रुपये)
  • महिनाथपुर: 22 रुपये (नेपाली 35 रुपये): 109 रुपये (नेपाली 175 रुपये)
  • वैदेही : 28 रुपये (नेपाली 45 रुपये) : 141 रुपये (नेपाली 225 रुपये)
  • परवाहा : 34 रुपये (नेपाली 55 रुपये) : 172 रुपये (नेपाली 275 रुपये)
  • जनकपुर : 44 रुपये (नेपाली 70 रुपये) : 219 रुपये (नेपाली 350 रुपये)
  • कुर्था : 56 रुपये (नेपाली 90 रुपये) : 281 रुपये (नेपाली 450 रुपये)